देश

पांच दिनों की सीबीआई हिरासत में भेजा गया अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले का बिचौलिया क्रिश्चियन मिशेल

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के बिचौलिया क्रिश्चियन मिशेल को सीबीआई कोर्ट ने पांच दिनों की सीबीआई हिरासत में भेज दिया है. दुबई के भारत लाए गए क्रिश्चियन मिशेल को बुधवार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया था . जहां सीबीआई के वकील ने मिशेल को रिमांड को लेने के पक्ष में दलीलें पेश की. जिसके बाद जज ने मिशेल को पांच दिनों की सीबीआई हिरासत में भेज दिया है.

3600 करोड़ के घोटाले की जांच से जुटी सीबीआई ने कहा कि मामले की जांच जारी है. मिशेल को रिमांड में लेकर घोटाले से जुड़ी और सच्चाईयों को सामने लाया जाएगा. गौरतलब हो  कि भारतीय जांच एजेंसी को मंगलवार को तब बड़ी कामयाबी हाथ लगी जब 3600 करोड़ रुपये के इस घोटाले के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल को पूछताछ के लिए भारत लाया गया था. मूलत: ब्रिटेन का रहने वाला मिशेन दुबर्ई की जेल में बंद था. जहां से उसे प्रत्यर्पण कानून के तहत मंगलवार की रात दिल्ली लाया गया.

सूत्रों के अनुसार सीबीआई के आला अधिकारी मिशेल को लाने के लिए दुबई गए थे. मिशेल के भारत पहुंचते ही अगस्ता वेस्टलैंड केस की जांच से जुड़े अधिकारियों ने मिशेल को अपने साथ ले गए. जहां उससे पूछताछ की जा रही है. सीबीआई के अधिकारी मिशेल को रिमांड में लेकर इस घोटाले से जुड़े अन्य राज उगलवाने की कोशिश करेंगे. बताते चले कि अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला यूपीए-2 के समय का बड़ा घोटाला है.

गौरतलब हो कि 8 फरवरी 2010 को भारत सरकार ने अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी से 12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टर खरीदने का करार किया था. इन 12 वीवीआई हेलीकॉप्टरों के लिए भारत सरकार को 556.262 मिलियन यूरो देना था. लेकिन घोटाले की बू मिलने के बाद जनवरी 2014 में भारत सरकार ने इस करार को तोड़ दिया था. इस केस में कांग्रेस के शीर्ष नेताओं पर घोटाले का आरोप लगा था. ईडी ने जून 2016 में मिशेल के खिलाफ चार्जशीट फाइल की थी.

ईडी की चार्जशीट में कहा गया था कि मिशेल ने अगस्ता वेस्टलैंड से करीब 225 करोड़ रुपये रिश्वत के तौर पर हासिल किए. फरवरी 2017 में मिशेल को संयुक्त अरब अमीरात में गिरफ्तार कर लिया गया था। मिशेल की गिरफ्तारी के बाद भारतीय एजेंसियां उसे भारत लाने की तैयारी में जुटे थे. मिशेल को लाने की जिम्मेदारी अंतरिम सीबीआई निदेशक एम नागेश्वर राव और जॉइंट डायरेक्टर साई मनोहर के नेतृत्व वाली टीम ने की. इस पूरी कारवाई में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल ने बड़ी भूमिका अदा की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *