एजुकेशन देश

फर्जी डिग्री मामले में DUSU अध्यक्ष अंकिव बसोया को ABVP ने संगठन से निकाला, DUSU अध्यक्ष पद से भी देना होगा इस्तीफा

बीजेपी समर्थित छात्रसंघ एबीवीपी ने कथित फर्जी डिग्री मामले पर डूसू अध्यक्ष अंकिव बसौया को अपने पद से इस्तीफा देने को कहा है साथ ही जांच पूरी होने तक उन्हें संगठन से भी निकाल दिया है. यानी जबतक जांच पूरी नहीं होती तब तक अंकिव ना तो डूसू के अध्यक्ष रहेंगे और ना ही वो संगठन में किसी प्रकार की जिम्मेदारी संभालेंगे.

गौरतलब है कि इस साल हुए दिल्ली विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में अंकिव बसोया ने डूसू का चुनाव जीता था जिसके बाद एनएसयूआई समेत दूसरे छात्र संगठनों ने अंकिव के डिग्री और एडमिनशन पर सवाल करने शुरु कर दिए थे. आरोप है कि अंकिव ने यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए फर्जी डिग्री का सहारा लिया.

हालांकि शुरुआत में एबीवीपी ने अंकिव का समर्थन किया और कहा कि सही दस्तावेजों के आधार पर ही अंकिव को एडमिशन दिया गया लेकिन बाद में मामले ने तूल पकड़ा तो अब एबीवीपी ने उन्हें जांच पूरी होने तक डूसू अध्यक्ष पद से हटने का आदेश देते हुए संगठन की सभी जिम्मेदारियों से मुक्त कर दिया है.

गौरतलब है कि सितंबर में एबीवीपी ने आरोप लगाया था कि अंकिव बसोया का बीए का सर्टिफिकेट फर्जी है. बसोया ने बुधिस्ट स्टडीज में मास्टर्स के लिए अप्लाई किया था और थिरुवल्लुर यूनिवर्सिटी से बीए की बीए की डिग्री दिखाई थी जिसे थिरुवल्लुर यूनिवर्सिटी ने लेटर जारी कर फर्जी बताया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *